Quick Overview

Authored By Aggarwal Usha ऊषा अग्रवाल

Publisher: Sultan Chand Draupti Devi Education Foundation

Publishing Year: Jan

Size: 22.00 x 14.00

ISBN:

MRP: 40.00

Availability: In Stock

₹40.00 + Add to Cart

प्राचीन परिप्रेक्ष्य में ‘गुरु‘ 

  • गुरु बिन ज्ञान कहाँ से पाऊँ?
  • गुरु-गुण लिखा न जाई
  • गुरु-शिष्य सम्बन्ध
  • ज्ञानस्थली-गुरुसानिध्य
  • द्रोणाचार्य की गुरुदक्षिणा-एक प्रतिशोध
  • गुरु-शिष्य संघर्ष
  • सच्चा गुरु कौन है?
  • आत्म-कल्याण - शिष्य प्रयत्न से
वर्तमान परिप्रेक्ष्य में ‘गुरु‘  
  • महान् शिक्षाविद् - डाॅ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन
  • प्रेरक-प्रोत्साहक शिक्षक
  • गुरु-शिष्य सम्बन्ध - इक्कीसवीं सदी में
  • छात्र-शिक्षक एवं शिक्षण प्रबन्धन - आधुनिक परिवेश में
  • अध्यापन कार्य अति सरल है क्या?
  • शिक्षण में विशेषता कैसे?
  • शिक्षक-शिष्य की, शिक्षा में भागीदारी
  • शिक्षक की उत्तमता का मानदण्ड क्या?
  • व्यावसायिक जीवन का चिरस्थायी यौवन - अध्यापन से

ISBN13:

Weight: 148.00

Edition:

Language: Hindi

Title Code:

Customer Reviews
  • प्रताप वैश्य 17/3/2016

    नारायण पण्डित विरचित हितोपदेश एक ऐसा अमूल्य नीति ग्रन्थ है‌‌ जिसको पढ़कर मनुष्य भली प्रकार सांसारिक व्यवहार को जान लेता है और लोक व्यवहार में कुशल-निपुण होने से अपने दैनिक जीवन मैं किसी भी प्रकार से धोखा नहीं खाता तथा पथभ्रष्ट नहीं होता।

  • Sourabh 30/6/2015

    This is a very Nice Book one must read.

Write Your Own Review
Write Your Own Review
 
   
Write Your Own Review